भाईचारा बनाएॅं रखे..!!

जब मुल्ला को मस्जिद में राम नजर आए,

और पंडित को मंदिर में रहमान..।

सुरत ही बदल जाए इस दुनिया की,

गर इन्सान को इन्सान में ‘इन्सान’ नजर आए..।।